13 फ़रवरी 2011




अपना तो हो गया   
प्यार का दिन  

(कृपया काव्य रस की कमी को नज़र अंदाज़ करें,प्रेम रस भरपूर है जी)



ज सुबह सवेरे उठ कर 
आँगन में उगी गुलाब की क्यारी में ब्रश  किया,
फिर पडोसिओं के साथ लगती
कंटीली झाडी को जस का तस किया

पड़ोसन के बच्चे को पुचकारा
पर आज उसके कुत्ते  को कुछ न कहा
उसने भी दुम हिलाई ,रोज़ की तरह भौंका नहीं
शायद उसे आज के दिन का था पता

सामने घर की बगिया से , चुपके से कुछ फूल ले आया
और उनके गुलदान में सजा दिए
उनका  मूड कुछ उखडा हुआ था
फिर भी  वो मुस्करा दिए

उनके माथे पर शिकन थी और नज़रें सवाली थीं
इक बारगी मैं कांप गया
लेकिन बरसों का साथ था और तजुर्बेकार था 
सो फ़ौरन मैं भांप गया

प्यार के दिन के उपलक्ष्य में  
काम वाली बाई ने जो छुट्टी की
दफ्तर से इक खूबसूरत बहाना बनाकर
मैंने  भी कर ली

उनके साथ मिलकर कुछ बर्तन चमकाए
और कुछ कपडे  भी धो दिए
बहुत रूमानी है साहिब
ज़रा आप भी दोनों साथ धो कर देखिये

बाद दुपहिर बच्चों को स्कूल से ले आया
मगर उनकी खूबसूरत शोख उस्तानिओं को
इक नज़र भी नहीं देखा
प्यार का दिन हुआ तो क्या हुआ
बहकने का भी मन था
पर मैं बिलकुल नहीं बहका

शाम को उनके साथ बाज़ार हो आया
उन्होंने साड़ी ली मैंने तरकारी ली
पिछले साल की सारी चुका आया मैं
और अपने सर  नए साल की उधारी ली

उनकी इजाजत से ब्लॉग खोला
 न टिप्पणी करने वालों को भी टिप्पणी दी
यूं ब्लॉग की दुनिया में आज
मैंने रस्मे उल्फत अदा की

छुट्टी के दिन का दस्तूर था
सो आज रात का खाना मैंने ही बनाया
शायद प्यार के दिन का था असर
उन्होंने बड़े चाव से खाया

रात को सोने जा रहे बच्चों को
शराफत की लोरी सुना दी 
प्यार व्यार कुछ होता नहीं 
ये बात अच्छी तरह से समझा दी

गयी रात वो जब कुछ  माने तो
उनका हाथ पकड़ कर सो गया
आप अपनी कहिये साहिब
अपना तो वैलेनटाइन डे हो गया 

*************

53 टिप्‍पणियां:

  1. आनंद आ गया सगेबोब जी, क्या कहने -ऐसा वैलेनटाइन-डे तो आज हम भी मनाएगे--हम भी साडी की फरमाइश में जमीन -आसमान एक कर देगे --पिक्चर देखकर खाना उन्ही से बनवाएगे --देखते हे क्या परिणाम होता हे--- :)
    लाजबाब प्रस्तुति !

    उत्तर देंहटाएं
  2. वेलेंटाइन डे पे रचना तो बहहुत खूबसूरत लिखी है भाई जी लेकिन सच कहूं तो फॉण्ट की वजह से थोड़ी दिक्कत आयी पढने में, आशा करता हूँ ज़रा ध्यान रखेंगे!

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छा वेलेंटाइन डे मनाया आप ने बधाई..
    थोडा फॉण्ट छोटा कर दें तो स्पष्टता होगी पड़ने में..

    उत्तर देंहटाएं
  4. हा......हा.....हा......अच्छी रचना है। आपकी हल्की फुल्की रचना ने दिल में गुदगुदी कर दी।

    उत्तर देंहटाएं
  5. अरे वाह !

    भाई कुछ भी तो नहीं छोड़ा , सच कहूं तो असल वैलेंताईन तो आपने ही मनाया

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुतों को सीख भी दे दी आपने ...शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपका नाम कुछ समझ नहीं आता जी इसलिए नाम लिखने से बचता हूँ,

    हास्यरस लिए ये रचना बहुत अच्छी लगी.....पढ़ते समय एक मुस्कान बनी रही....ये आपकी इस पोस्ट की सफलता है.....शुभकामनायें|

    उत्तर देंहटाएं
  8. वाह ...वाह ..करता रहा और लोगों ने पूछा क्या हुआ भाई ...पागल हो क्या ..मैंने कहा नहीं भाई ..कविता पढ़ रहा था ......सबने पढ़ी और मजा आ गया .....असली वेलेंटाइन का आनंद हमने भी उठाया ...आपका शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह क्या बात है बहुत ही बेहतरीन रचना !
    वाकई आनंद आ गया !

    आभार !!

    उत्तर देंहटाएं
  10. लाज़वाब वेलेंटाइन डे..बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति..

    उत्तर देंहटाएं
  11. मुझे तो आप की सुन कर मज़ा आ गया !

    उत्तर देंहटाएं
  12. आपका दिन बड़ा प्यारा बीता
    लेकिन यकीन मानिए
    इस कविता को पढ़ने के बाद
    अपना मूड भी ठीक हो गया।
    ..शब्द बड़े हो गये हैं..साइज ठीक कर लीजिए।

    उत्तर देंहटाएं
  13. सो स्वीट!! हम तो बरसों से पहली जनवरी सए 31 दिसम्बर तक 14 फरवरी मनाते आ रहे हैं!!

    उत्तर देंहटाएं
  14. प्रियवर sagebob
    सादर सस्नेहाभिवादन !

    भई वाह ! क्या कविता है ! मैं कहीं ढंग की कविता सुनता हूं तो गिन कर तीन ताली बजाता हूं … ईमानदारी से कहता हूं कविता की शुरूआती चार पंक्तियों के बाद हर पंक्ति के साथ मन ही मन क्लेपिंग करता रहा …

    छंद का पक्षधर रचनाकार होने के बावजूद पूरे हृदय से सलाम कर रहा हूं आपकी इस रचना को !

    वाह वाह ! वाऽऽह … !

    प्रेम बिना निस्सार है यह सारा संसार !
    प्रणय दिवस मंगलमय हो ! :)

    बसंत ॠतु की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  15. आज के दिन आपको मेरी प्यार भरी शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  16. उनके साथ मिलकर कुछ बर्तन चमकाए
    और कुछ कपडे भी धो दिए
    बहुत रूमानी है साहिब
    ज़रा आप भी दोनों साथ धो कर देखिये
    .......

    शाम को उनके साथ बाज़ार हो आया
    उन्होंने साड़ी ली मैंने तरकारी ली
    real valentine...

    उत्तर देंहटाएं
  17. वाह ... लाजवाब करती पंक्तियां ....बहुत ही सुन्‍दर शब्‍द रचना ।

    उत्तर देंहटाएं
  18. बहुत मजा आया पूरी पोस्ट मज़ेदार है. लाजवाब....बहुत ही सुन्‍दर शब्‍द रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  19. दिल से यह बात कहनी पड़ेगी कि आपकी कविता पूरी तरह प्रेम रस में डूबी है !
    प्रेम की इतनी अच्छी अभिव्यक्ति पढकर दिल बाग़ बाग़ हो गया !

    उत्तर देंहटाएं
  20. .

    सच कहूँ तो एक सच्चे भारतीय की तरह ही मनाया आपने इस दिवस कों ,। सब्जी भाजी से लेकर खाना पकाने और ऊपर से बच्चे कों लोरी भी सुनाने तक सभी दायित्वों कों बखूबी निभाया आपने ।

    यदि हमारे श्रीमान इतने दायित्वों में से मात्र एक भी निभा लेते । कुछ नहीं तो बच्चों कों ही पढ़ा देते तो मेरा भी valentine day मन जाता और मैं भी हरी-मंदिर में एक गुलाब चढ़ा आती ।

    .

    उत्तर देंहटाएं
  21. गयी रात वो जब कुछ माने तो
    उनका हाथ पकड़ कर सो गया
    आप अपनी कहिये साहिब
    अपना तो वैलेनटाइन डे हो गया

    क्या बात है .....

    आज तो छा गए गुरु .....

    आपके लिए एक सन्देश था ब्लॉग पे .....

    उत्तर देंहटाएं
  22. kash aapki tarah hi sabhi valentine day manaayen....apke sabhi bhai-bandhuon ko aapse seekh leni chaahiye.....ishwar kare aap roz valentine day manaayen...!!!

    उत्तर देंहटाएं
  23. बहुत ही सुन्‍दर शब्‍द रचना ।

    उत्तर देंहटाएं
  24. प्रेमदिवस की शुभकामनाये !
    कई दिनों से बाहर होने की वजह से ब्लॉग पर नहीं आ सका
    बहुत देर से पहुँच पाया ....माफी चाहता हूँ..

    उत्तर देंहटाएं
  25. Aapke blog per aane ka suavsar Keval Ram ji ke
    blog per aapki tippanion ko dekh jiggyasa vash hua. Bahut sunder prastuti hai aapki.Hum to ye prarthana karte hai ki aapka taal-mel jivan bhar
    ati sukhad aur prempoorn rahe aur har din hi valentine day ho jaye.
    Mere blog "Mansa vacha karmna" per aapka swagat hai.

    उत्तर देंहटाएं
  26. वाह , वाह , वाह ! शराफत से , ईमानदारी से सारी बातें बता दीं आपने ।
    अब हीर जी ने सिफारिश की थी तो हम भी चले आए । आना सफल हो गया भाई ।

    उत्तर देंहटाएं
  27. बहुत खूबसूरत और प्रवाहमयी रचना. एकदम अलग andaaj . shubhkamna

    उत्तर देंहटाएं
  28. पूरी पोस्ट लाजवाब है. ....बहुत ही सुन्‍दर शब्‍द रचना.
    प्रेमदिवस की शुभकामनाये !

    उत्तर देंहटाएं
  29. बहुत खूब...!
    मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है

    उत्तर देंहटाएं
  30. वाह!!!!! क्या दिन बिताया सारा मज़ा तो इस बार ही उठा लिया. अब अगले साल क्या करेंगे.

    उत्तर देंहटाएं
  31. बड़े सूफ़ी टाईप प्रेमी हैं आप:)
    मजा आया पढ़कर, और ये जानकर और भी मजा आया कि इंडस्ट्री बैंकिंग है।

    उत्तर देंहटाएं
  32. प्रेम निभाने का बहुत सही तरीका....किसी भी बहाने से प्रसन्नता बांटना और प्रसन्न रहना जरूरी है...
    ऐसा हो तो हर दिन प्रेम-दिवस ही होगा....
    हमसे जुड़ने के लिए धन्यवाद...
    उम्मीद है की कुछ ऐसा लिख सकूं जिससे आपका स्नेह निरंतर पा सकूं.
    प्रणाम.

    उत्तर देंहटाएं
  33. आपका valentine day गज़ब का रहा और उससे भी गज़ब की रही उसकी अभिव्यक्ति.

    उत्तर देंहटाएं
  34. रात को सोने जा रहे बच्चों को
    शराफत की लोरी सुना दी
    प्यार व्यार कुछ होता नहीं
    ये बात अच्छी तरह से समझा दी
    क्या बात है भाई...बहुत खूब वैलेन्टाइन डे मनाया.

    उत्तर देंहटाएं
  35. बहुत रूमानी है साहिब
    ज़रा आप भी दोनों साथ धो कर देखिये--शानदार..

    ---भई हम भी स्वर्ण्कार जी की भांति---तीन तालियां.....तकनीक की बात तो हो ही नहीं रही....

    उत्तर देंहटाएं
  36. upar likhi jagjit singh ki gaayi panktiyon ko dekh man khush ho gaya ,aap bahut achchha likhte ,jo safar pyaar se kat jaaye wo pyaara hai safar ....har din phir prem divas hai ,main bahut aam si hoon aap khas na banaye ,aap likhte rahe main avshya padhne aaungi agar koi baadha na rahi ,abhi net lambe waqt se bigda raha is karan nahi aai ,maafi chahti hoon .agle post ke intjaar me ..

    उत्तर देंहटाएं
  37. बड़े ही नायाब तरीके से मनाया वैलेंटाइन....
    पर हफ्ते में एक दिन ऐसा बिताना चाहिए :)
    बढ़िया कविता

    उत्तर देंहटाएं
  38. प्रेम रस तो भरपूर है जी :)

    उत्तर देंहटाएं
  39. विवरण दिलचस्प है|धन्यवाद|

    उत्तर देंहटाएं
  40. अद्भुत दिवस की अद्भुत दिनचर्या का वर्णन किया है आपने।
    बहुत सुंदर।

    उत्तर देंहटाएं
  41. वाह ... प्रेम को नए अर्थ दे दिए हैं ...

    उत्तर देंहटाएं
  42. यही सवाल है यही असली जि‍न्‍दगी है, या और कुछ ?

    उत्तर देंहटाएं
  43. अरे वाह !!
    फिर तो अपुन का रोज ही वेलेंटाइन डे होता है...हम बेकार में दुबले हुए जा रहे थे...:):)
    यही असली वेलेंटाइन डे है जी...
    बहुत खूबसूरत रचना लगी आपकी...
    आभार..!!

    उत्तर देंहटाएं
  44. valentine day मनाने का इस से खूब सूरत तरीका क्या हो
    सकता है !

    उत्तर देंहटाएं

मंजिल न दे ,चिराग न दे , हौसला तो दे.
तिनके का ही सही, मगर आसरा तो दे.
मैंने ये कब कहा कि मेरे हक में हो जबाब
लेकिन खामोश क्यों है कोई फैसला तो दे.